Friday, October 7, 2022

Contact Us For Advertisement please call at :
+91-97796-00900

मामला – चर्च की बेअदबी का 22 दिन बीत जाने पर भी दोषियों की नही हुई गिरफ्तारी, पंजाब सरकार ईसाई भाईचारे से कर रही है सौतेला व्यवहार – समूह ईसाई भाईचारा

मामला – चर्च की बेअदबी का

22 दिन बीत जाने पर भी दोषियों की नही हुई गिरफ्तारी,
पंजाब सरकार ईसाई भाईचारे से कर रही है सौतेला व्यवहार – समूह ईसाई भाईचारा

तरनतारन, 22 सितंबर(पट्टी)(शैली अल्बर्ट): ईसाई समुदाय के लोग 22 दिन बीत जाने के बावजूद चर्च की अपवित्रता के विरोध में वीरवार को हजारों की संख्या में एकत्रित हुए ईसाई भाईचारे ने मंत्री कार्यालय के पास राष्ट्रीय राज मार्ग पर यातायात रोककर अपना विरोध व्यक्त किया। उन्होंने मांग की कि बेहदबी के लिए जिम्मेदार दोषियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए और ईसाई धार्मिक स्थलों पर अल्पसंख्यक ईसाइयों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। जाम के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग पर दो घंटे तक यातायात बाधित रहा। इस मौके पर एक्शन कमेटी ठक्करपुरा ने एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम मांग पत्र सौंपा. इस अवसरों पर एसपी तरण तारन भी मौजूद थे। इस अवसर पर बोलने वालों में एक्शन कमेटी के अध्यक्ष फादर मैथ्यू कोकुंदम, फादर थॉमस पूचलिल, फादर पीटर, फादर जोसेफ टी. जे, जसबीर संधू, अध्यक्ष गगन जॉर्ज, बीर मसीह और संदीप मिठू के अलावा परगट मसीह, यूनुस पीटर, राकेश विलियम, डोमिनिक मट्टू, जॉर्ज करयाल, तरसेम सहोता, अमन मजीठा, सनावर भट्टी आदि ने संबोधित किया। गौरतलब है कि पिछले 22 पहले रात को ठक्करपुरा पट्टी चर्च में चौकीदार को बंधक बनाकर माता मरियम और प्रभु यीशु मसीह की पवित्र मूर्तियों के सिर कलम करके बेअदबी की ओर वहा खड़ी चर्च की गाड़ी को आग लगा दी।जिसके बाद थाना सदर पट्टी में मामला दर्ज किया गया था । जिसके विरोध में पूरे पंजाब में विरोध कर पंजाब के मुख्यमंत्री को पत्र भेजे गए। चर्च एक्शन कमेटी के आमंत्रण पर विभिन्न जिलों से बड़ी संख्या में लोगों ने आरोपियों की गिरफ्तारी में हो रही देरी का विरोध किया। 15 सितंबर से बड़े गिनती में लोगों ने अलग अलग जिले के डीसी को आरोपी की गिरफ्तारी में देरी को लेकर रोष जाहिर करते हुए आरोपियों को जल्दी गिरफ्तार करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के नाम लगातार मांग पत्र दे रहे हैं। आयदिन पंजाब में घट गिनती ईसाई भाईचारा के ऊपर हमले हो रहे हैं जिसके कारण ईसाई भाईचारा में डर और खौफ कारण खुद को समुदाय में असुरक्षा की भावना पैदा हो रही है।  शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुमूल्य सेवाएं दे रहा अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय आज सड़कों पर उतरने को मजबूर है। दो दोषियों की पहचान होने के बाबजूद भी पुलिस प्रशासन दोषियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है जिसमें सीधे तौर पर पंजाब सरकार की लापरवाही है जो इस भावनात्मक धार्मिक मुद्दे को सीरियस नही ले रही है और समूह ईसाई समुदाय को अनदेखा कर रही है। समूह ईसाई भाईचारा ने भारी रोष जताते हुए पंजाब सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जल्दी दोषियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो आने वाले दिनों में सरकार विरुद्ध भारी प्रदर्शन किया जाएगा अगर हालात बेकाबू हुई तो पंजाब सरकार जिम्मेवार होगी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

%d bloggers like this: