Friday, October 7, 2022

Contact Us For Advertisement please call at :
+91-97796-00900

बहडाला में मनाई गई डाॅ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर की 65वीं पुण्यातिथि

बहडाला में मनाई गई डाॅ बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर की 65वीं पुण्यातिथि

विवेक अग्रवाल
ऊना, 6 दिसंबर: ग्राम पंचायत बहडाला ने भारतीय संविधान के मुख्य शिल्पकार डॉ बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर की 65वीं पुण्यतिथि अम्बेडकर भवन बहडाला में मनाई गई।
इस अवसर पर सब्जी मंडी बोर्ड ऊना के अध्य्ाक्ष बलबीर बग्गा ने डाॅ बाबासाहेव भीमराव अम्बेडकर के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनका महापरिनिर्वाण (निधन) 6 दिसंबर 1956 को हुआ था। वह भारतीय बहुज्ञ, विधिवेत्ता, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ, और समाजसुधारक थे। उन्होंने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और दलितों से सामाजिक भेदभाव के विरुद्ध अभियान चलाया था। श्रमिकों, किसानों और महिलाओं के अधिकारों का समर्थन भी किया था। वह स्वतंत्र भारत के प्रथम विधि एवं न्याय मंत्री, भारतीय संविधान के जनक एवं भारत गणराज्य के निर्माताओं में से एक थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन जातिवाद को खत्म करने और गरीबों, दलितों, पिछड़े वर्गों के उत्थान के लिए अर्पित किया। इसलिए आज के दिन उनकी पुण्यतिथि को महापरिनिर्वाण दिवस के तौर पर मनाया जाता है।
इस अवसर पर तहसीलदार वैल्फेयर ऊना जतिंदर शर्मा, गुरु रविदास मंदिर कमेटी के प्रधान सुरजीत सिंह, बीडीसी सदस्य राधिका, बहडाला के प्रधान रमेश चंद, पंचायत सचिव रवि कुमार, उपप्रधान अभिनाश राणा, वार्ड पंच किरण, सुमन शर्मा, बलदेव सिंह, गुरदयाल सिंह, फकीर चंद, अभिषेक बसरा, पूजा बग्गा, मनोहर, नीतीश कुमार, राजन कुमार, रवि कुमार, रवि थिंड़ सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

%d bloggers like this: