Tuesday, September 27, 2022

Contact Us For Advertisement please call at :
+91-97796-00900

पोषण अभियान हुआ सफल, ज़िला प्रशासन की गंभीरता रंग लाई, जागरूकता फैलाने में ज़िला जालंधर पंजाब में से मोहरी

पोषण माह दौरान 1,93,719 व्यक्तियों की भागीदारी पोषण अभियान को ज़मीनी स्तर तक पहुँचाने में सहायक साबित होगी: डिप्टी कमिश्नर

जालंधर, 8 सितम्बर
पंजाब सरकार की तरफ से महिलाओं के लिए शुरू किये गए पोषण अभियान को ज़मीनी स्तर तक लागू करने के लिए ज़िला प्रशासन की तरफ से कई प्रयत्न किये जा रहे है, जिसके अंतर्गत पोषण अभियान का ‘पोषण माह’ दौरान ज़िला जालंधर राज्य भर में से अग्रणी भूमिका निभाने में कामयाब हुआ है। डिप्टी कमिश्नर श्री घनश्याम थोरी ने पोषण अभियान सम्बन्धित घर -घर जागरूकता फैलाने के लिए विभाग के आधिकारियों और कर्मचारियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि पोषण अभियान महिलाओं के स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने के लिए सरकार का एक बढिया प्रयास है।
इस बारे में और ज्यादा जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि ज़िले की औरतों, गर्भवती महिलाओं और दूध पिलाने वाली माताओ को पौष्टिक आहार की महत्ता से अवगत करवाने के लिए मनाए जा रहे पोषण माह के अंतर्गत 12,331 गतिविधियां करवा कर ज़िला जालंधर ने राज्य भर में अग्रणी स्थान प्राप्त किया है।
उन्होंने बताया कि सामाजिक सुरक्षा, स्त्री और बाल विकास विभाग की तरफ से 1 सितम्बर से 30 सितम्बर तक पोषण माह एक जन आंदोलन के तौर पर मनाया जा रहा है, जिसके अंतर्गत गर्भवती महिलाएं और दूध पिलाने वाली माताओ को पौष्टिक भोजन न खाने कारण होने वाले नुक्सानों और पौष्टिक भोजन की महत्ता सम्बन्धित जागरूक करने के लिए ज़िले भर में अलग -अलग गतिविधियां करवाई जा रही है।
उन्होंने बताया कि पोषण माह के अंतर्गत ज़िले में 12,331 गतिविधियां करवाई गई है, जिनमें लगभग 1,93,719 व्यक्तियों ने भाग लिया गया, जिनमें 32,668 पुरुष, 93,525 महिलाएं, 27,541 बच्चे और 38,129 बच्चियाँ शामिल है।
उन्होंने बताया कि मल्टी मनीस्रींतयल कनवरज़न मिशन पोषण अभियान के लिए विभाग की तरफ से जारी प्रोगराम के अंतर्गत जहाँ आंगणवाड़ी केन्द्रों, स्कूलों, पंचायतों और अन्य जनतक स्थानों पर पोषण वाटिका के रूप में पौधे लगाए गए है, वहीं अलग -अलग स्थानों पर योगा और आयुश सम्बन्धित गतिविधियां करवाई जा रही है।
श्री थोरी ने कहा कि यह गतिविधियों पूरे सितम्बर महीने जारी रहेंगी और सम्बन्धित विभागों के तालमेल के साथ पौष्टिक खाने सम्बन्धित जागरूकता फैलाने, न्यूटरी गार्डन बनाने के बारे में जानकारी देने, लाभपातरियों को पौष्टिक किटों की बाँट, एस.ए.एम. बच्चों की पहचान जैसी अन्य गतिविधियों करवाई जाएंगी।
ज़िला प्रोगराम अधिकारी जी.ऐस. रंधावा ने जानकारी देते हुए बताया  कि स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक भोजन के फ़ायदों के बारे में जागरूक करने के लिए चलाई जा रही दूसरी गतिविधियों के साथ-साथ ‘पोषण माह’ के अंतर्गत गर्भवती माताओ को पोषण और व्यक्तिगत सफ़ाई सम्बन्धित, बच्चों की सही ख़ुराक, किशोर लड़कियाँ को पोषण और व्यक्तिगत साफ़ -सफ़ाई, साफ़ पानी का प्रयोग, अनीमिया, माँ के दूध की महत्ता, गर्भवती औरतों के एनटीनेटल चैकअप के बारे में जानकारी भी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि.सी.डी.पी.ओज़ ब्लाकों में जागरूकता प्रोगराम चलाने के साथ-साथ आशा /आंगणवाड़ी वरकरों और अलग -अलग विभागों के तालमेल के साथ कुपोषण दूर करने का संदेश घर -घर पहुँचाया जा रहा है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

%d bloggers like this: