Thursday, October 6, 2022

Contact Us For Advertisement please call at :
+91-97796-00900

विभिन्न अस्पतालों में स्थापित किए जा रहे हैं 14 पीएसए आक्सीजन संयंत्रः मुख्यमंत्री

विभिन्न अस्पतालों में स्थापित किए जा रहे हैं 14 पीएसए आक्सीजन संयंत्रः मुख्यमंत्री

 

शिमला, 11 मई, 2021 ( वीना पाठक ); प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए आज यहां आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार ने हाल ही में हिमाचल प्रदेश के लिए 14 और पीएसए आक्सीजन संयंत्र स्वीकृत किए हैं।

उन्होंने कहा कि इन आक्सीजन प्लांट को नागरिक अस्पताल पालमपुर, क्षेत्रीय अस्पताल मण्डी, नागरिक अस्पताल घुमारवीं, डाॅ. राधाकृष्णन राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय हमीरपुर, आयुर्वेदिक अस्पताल रिकांगपिओ, नागरिक अस्पताल रत्ती, नागरिक अस्पताल रामपुर, डाॅ. वाई.एस. परमार राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नाहन, नागरिक अस्पताल सराहन, क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू, दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल शिमला, क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला, श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नेरचैक और आईजीएमसी शिमला में स्थापित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन संयंत्रों का कार्य निर्धारित समयावधि में पूरा किया जाएगा।

जय राम ठाकुर ने कहा आक्सीजन संयंत्रों की सुविधा मिलने से इन मेडिकल काॅलेजों और अस्पतालों में दाखिल मरीजों को निर्बाध आक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित होगी। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने राज्य को 75 हजार पीपीई किट्स एवं 75 हजार एन-95 मास्क उपलब्ध करवाए हैं जो मंगलवार सायं तक शिमला पहुंच जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के स्वास्थ्य संस्थानों में कुल 3670 बिस्तरे उपलब्ध हैं जिनमें से 1819 पर मरीज दाखिल हैं। राज्य में लगभग 244 आईसीयू बिस्तर और 1804 आक्सीजनयुक्त बिस्तर हैं जिनमें से 349 बिस्तर अभी खाली हैं।
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि को देखते हुए राज्य सरकार बिस्तरों की क्षमता को लगातार बढ़ा रही है। अस्थाई अस्पतालों के कार्य में तेजी लाकर अगले कुछ दिनों में बिस्तरों की क्षमता को 1100 तक बढ़ाया जाएगा। सोलन, मण्डी और ऊना जिला के पंडोगा में 200-200 बिस्तरों की अतिरिक्त सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी जबकि कांगड़ा जिला के परौर में 500 बिस्तरों की अतिरिक्त व्यवस्था की जा रही है। नालागढ़ में 60 बिस्तरों, ऊना जिला के पलकवाह में 100 बिस्तरों, आईजीएमसी शिमला में 23 बिस्तरों और टांडा में 66 बिस्तरों की सुविधा वाले मेक शिफ्ट अस्पताल पहले ही शुरू हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि मेडिकल काॅलेज नेरचैक में अगले दो दिनों में 100 बिस्तरों की क्षमता वाला अस्थाई अस्पताल तैयार हो जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड-19 मरीजों को हेल्थ किट उपलब्ध करवाने का भी निर्णय लिया है। इस किट में काड़ा, च्यवनप्राश, फेस मास्क, सेनिटाइजर, थर्मामीटर, मल्टी विटामीन की गोलियां और आयूष इम्यूनिटी बुस्टर शामिल होंगे।

स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. राजीव सैजल, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव जे.सी. शर्मा, पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक तिवारी, स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

%d bloggers like this: